phone
Call us now9520890085

Arvindasav Syrup

Rs. 124.00/-     Rs. 124.00

अरविंदासव एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका उपयोग आमतौर पर विभिन्न पाचन विकारों जैसे अपच, सूजन, गैस और कब्ज के इलाज के लिए किया जाता है। इसे जड़ी-बूटियों के मिश्रण से बनाया जाता है और गुड़ और पानी से किण्वित किया जाता है।

अरविंदसव की मुख्य सामग्रियों में अरविंदा (निगेला सैटिवा), धताकी फूल (वुडफोर्डिया फ्रुटिकोसा), हरीतकी (टर्मिनलिया चेबुला), और जीरा (क्यूमिनम साइमिनम) शामिल हैं। अरविंदासव में पाचक और वातहर गुण पाए जाते हैं जो भोजन को पचाने और आंतों से गैस को खत्म करने में मदद करते हैं।

भोजन के बाद अरविंदासव को समान मात्रा में पानी मिलाकर लेने की सलाह दी जाती है। हालांकि, इस या किसी अन्य आयुर्वेदिक दवा का उपयोग करने से पहले एक योग्य आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

घटक        :- कमल, खश, गंभारीछाल, मजीठ, नीलकमल, इलायची, खरेंटीमूल, जटामासी, नगरमोंथा,

                 अनन्तमूल, कालीहरड, बहेड़ा, आंवला, बच, कचूर, कालीनिशोथ, नील के बीज, पटोलपत्र,

                 पित्तपापड़ा, अर्जुनछाल, मुलेठी, महुआफूल, मुनक्का, धायपुष्प

रोगाधिकार :- बच्चों में शारीरिक दुर्बलता, काश, अतिसार, अग्निमान्ध में लाभप्रद

सेवन विधि :- ५-१० मिली. जल से दिन में दो बार चिकित्सक के परामर्शानुसार

rvindasav is an Ayurvedic medicine that is commonly used for the treatment of various digestive disorders such as indigestion, bloating, gas, and constipation. It is made from a combination of herbs and fermented with jaggery and water.

The main ingredients of Arvindasav include Arvinda (Nigella sativa), Dhataki flower (Woodfordia fruticosa), Haritaki (Terminalia chebula), and Jeera (Cuminum cyminum). Arvindasav is known to have digestive and carminative properties that help in the digestion of food and elimination of gas from the intestines.

It is recommended to take Arvindasav after meals, mixed with an equal amount of water. However, it is important to consult with a qualified Ayurvedic practitioner before using this or any other Ayurvedic medicine.

Components :- Lotus, Khash, Gambharichhal, Madjith, Neelkamal, Cardamom, Kharantimool, Jatamasi, Nagarmontha,

Anantmool, Kalihard, Baheda, Amla, Bach, Kachur, Kalinishoth, Neel seeds, Patolpatra,

Pittapapada, Arjunchal, Mulethi, Mahuaphool, Munakka, Dhayapushp

Remedy:- Beneficial in physical weakness, dyspepsia, diarrhea in children

Consumption method :- 5-10 ml. With water twice a day as directed by the physician

225ml