phone
Call us now9520890085

Arjunarisht Syrup

Rs. 100.00/-     Rs. 100.00

अर्जुनारिष्ट एक आयुर्वेदिक औषधीय सूत्रीकरण है जिसका उपयोग विभिन्न हृदय और श्वसन संबंधी विकारों के इलाज के लिए किया जाता है। इसे अर्जुन के पेड़ (टर्मिनलिया अर्जुन) और अन्य जड़ी-बूटियों की छाल से बनाया जाता है।

अर्जुन की छाल अपने कार्डियो-सुरक्षात्मक गुणों के लिए जानी जाती है और इसका उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में विभिन्न हृदय रोगों, जैसे एनजाइना, हृदय की विफलता और उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए किया जाता है। अर्जुनारिष्ट को श्वसन क्रिया पर सकारात्मक प्रभाव के लिए भी जाना जाता है और यह अस्थमा और ब्रोंकाइटिस के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है।

अर्जुनारिष्ट के निर्माण में अदरक, दालचीनी और लौंग जैसी अन्य जड़ी-बूटियों के साथ अर्जुन की छाल का किण्वन शामिल है। यह प्रक्रिया सूत्रीकरण में सक्रिय अवयवों की जैवउपलब्धता और प्रभावशीलता को बढ़ाती है।

अर्जुनारिष्ट आमतौर पर मौखिक रूप से लिया जाता है, और इसकी अनुशंसित खुराक व्यक्ति की आयु, स्वास्थ्य स्थिति और बीमारी की गंभीरता के आधार पर भिन्न होती है। यह आमतौर पर एक आयुर्वेदिक चिकित्सक द्वारा निर्धारित किया जाता है और उनकी देखरेख में लिया जाना चाहिए।

किसी भी दवा की तरह, अर्जुनारिष्ट के भी दुष्प्रभाव हो सकते हैं। आमतौर पर रिपोर्ट किए गए कुछ साइड इफेक्ट्स में मतली, उल्टी और पेट की परेशानी शामिल है। यदि आप अर्जुनारिष्ट लेने के दौरान किसी भी प्रतिकूल प्रभाव का अनुभव करते हैं, तो आपको इसका उपयोग बंद कर देना चाहिए और अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से परामर्श करना चाहिए।

घटक        :- अर्जुनछाल, द्राक्षा, महुआफूल व धाय्पुष्प\

रोगाधिकार :- श्वास, कास, हृदयदौर्बल्यता व उच्चरक्त चाप में लाभकारी

सेवन विधि :- १०-२० मिली. सुबह शाम भोजन के बाद समभाग जल मिलकर चिकित्सक के परामर्शानुसार

Arjunarishta is an ayurvedic medicinal formulation that is used to treat various cardiovascular and respiratory disorders. It is made from the bark of the Arjuna tree (Terminalia arjuna) and other herbs.

Arjuna bark is known for its cardio-protective properties and is used in Ayurvedic medicine to treat various heart diseases, such as angina, heart failure, and high blood pressure. Arjunarishta is also known to have a positive effect on respiratory function and can help alleviate symptoms of asthma and bronchitis.

The formulation of Arjunarishta involves the fermentation of Arjuna bark along with other herbs, such as ginger, cinnamon, and cloves. This process enhances the bioavailability and effectiveness of the active ingredients in the formulation.

Arjunarishta is usually taken orally, and its recommended dosage varies depending on the individual's age, health condition, and the severity of the illness. It is usually prescribed by an Ayurvedic practitioner and should be taken under their supervision.

As with any medication, there may be side effects associated with Arjunarishta. Some of the commonly reported side effects include nausea, vomiting, and abdominal discomfort. If you experience any adverse effects while taking Arjunarishta, you should stop using it and consult your healthcare provider.

Ingredients :- Arjuna bark, Grapes, Mahua flower and Dhaypushpa.

Disease: - Beneficial in breathing, cough, heart weakness and high blood pressure

Consumption method :- 10-20 ml. Morning and evening after meals, mixed with water, as per the doctor's advice.

225ml


1.Experience the power of Ayurveda with Arjunarisht Syrup - the natural remedy for heart health. With its unique blend of herbs, Arjunarisht Syrup is a safe and effective way to maintain a healthy heart. Try it today and feel the difference."

 

2.Say goodbye to heart problems with Arjunarisht Syrup - the ancient Ayurvedic formula that has been trusted for generations. Our syrup is made from pure herbs and is free from harmful chemicals. Discover the benefits of Arjunarisht Syrup today!"

 

3.Improve your heart health naturally with Arjunarisht Syrup. Our carefully crafted formula is designed to help lower cholesterol and blood pressure levels, while also promoting healthy circulation. Give your heart the care it deserves with Arjunarisht Syrup.