phone
Call us now9520890085

Anu tel

Rs. 65.00/-     Rs. 65.00

अनु तेल" एक प्रकार का आयुर्वेदिक हर्बल तेल है जो परंपरागत रूप से आयुर्वेद में नाक प्रशासन के लिए उपयोग किया जाता है। यह विभिन्न जड़ी बूटियों और तेलों के संयोजन से बना है, जिसमें तिल का तेल, कपूर और कई अन्य सामग्री शामिल हैं।

आयुर्वेद में अनु तेल का उपयोग इसके चिकित्सीय लाभों के लिए किया जाता है, जैसे कि नाक मार्ग के कामकाज में सुधार, सूजन को कम करना और समग्र श्वसन स्वास्थ्य को बढ़ावा देना। ऐसा माना जाता है कि यह साइनसाइटिस, एलर्जी और अन्य श्वसन समस्याओं जैसी स्थितियों के लक्षणों को दूर करने में मदद करता है।

आयुर्वेद में, अनु तेल को आमतौर पर नस्य नामक एक प्रक्रिया के माध्यम से प्रशासित किया जाता है, जिसमें नासिका मार्ग में तेल का अनुप्रयोग शामिल होता है। यह सिर को थोड़ा पीछे झुकाकर और प्रत्येक नथुने में तेल की कुछ बूंदों को डालकर किया जाता है। इसके बाद तेल को सर्कुलर मोशन में धीरे-धीरे नासिका मार्ग में मालिश किया जाता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि अनु तेल का उपयोग केवल एक योग्य आयुर्वेदिक चिकित्सक के मार्गदर्शन में ही किया जाना चाहिए, क्योंकि अनुचित प्रशासन या अति प्रयोग से प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

 घटक       :- श्वेत चन्दन, अगर, तेजपात, दारुहल्दी, मुलेठी, वासामूल, छोटी इलायची, वायविडंग, बेलछाल, कमल गट्टा,

                नेत्रबाला, खश, नगरमोथा, दालचीनी, अनन्तमूल, शालपर्णी, प्रश्नपर्णी, जीवन्ति, देवदार, शतावर, कमल केशर

रोगाधिकार :- ऊधर्व जत्रुगत विकार, त्रिदोष नाशक, इन्द्रिय बल वर्धक, शिर:शूल, मन्या स्तंभ, हनुस्तंभ, जीर्ण प्रतिश्याय में लाभदायक


सेवन विधि :- रात को सोने से पहले नासिका में एक -एक बूंद डालें

Anu Tail" is a type of Ayurvedic herbal oil that is traditionally used in Ayurveda for nasal administration. It is made from a combination of various herbs and oils, including sesame oil, camphor, and several other ingredients.

Anu Tail is used in Ayurveda for its therapeutic benefits, such as improving the functioning of the nasal passages, reducing inflammation, and promoting overall respiratory health. It is believed to help relieve symptoms of conditions such as sinusitis, allergies, and other respiratory problems.

In Ayurveda, Anu Tail is typically administered through a process known as Nasya, which involves the application of oil to the nasal passages. This is done by tilting the head back slightly and placing a few drops of the oil into each nostril. The oil is then gently massaged into the nasal passages using circular motions.

It is important to note that Anu Tail should only be used under the guidance of a qualified Ayurvedic practitioner, as improper administration or overuse may lead to adverse effects.

15ml


1.Anu Tel is a traditional Ayurvedic oil that has been used for centuries to support nasal health and promote overall wellbeing. Made with a blend of natural ingredients like sesame oil, camphor, and eucalyptus oil, Anu Tel helps to lubricate the nasal passages, reduce congestion, and alleviate sinus-related issues.

2.Anu Tel is an effective Ayurvedic remedy for people with respiratory issues like allergies, sinusitis, and rhinitis. Its natural ingredients help to improve breathing, reduce inflammation, and promote healthy nasal function.

 

3.Anu Tel is a powerful Ayurvedic oil that supports healthy sinuses, enhances mental clarity, and relieves stress. With its potent blend of natural ingredients, Anu Tel helps to calm the mind, soothe the nerves, and promote overall relaxation. using Anu Tel for mental and emotional health and how it can be a valuable addition to your daily self-care routine.